Uncategorized

कान का दर्द kaan ka dard

loading...

कान हमारे शरीर का बहुत ही संवेदनशील अंग है, अगर इसका ध्यान नहीं रखा गया तो कान की अनेक समस्या उतप्न्न हो सकती है।  कान के कई तरह के रोग होते है, जैसे: कान का बहना, दर्द होना, सुनाई न देना, कान से पस निकलना आदि। कान की अधिकतर समस्या सर्दियों में होती है।

kaan-ke-dard-door-karne-ke-upay

image source google

कान रोग के लक्षण

  • कान का दर्द होना, बहना या सुनाई न देना इसके प्रमुख लक्षण है।

Kaan ke rog se bachaw aur gharelu upchar कान के रोग से बचाव और घरेलु उपचार

  • आपको नहाते समय ध्यान रखना चाहिए की आपके कान में गन्दा पानी न जाये। नहाते समय हो सके तो कान कवर करके नहाये।
  • जब आपको कान सम्बंधित कोई भी रोग हो तो उस समय खान-पान पर भी ध्यान देना चाहिए जैसे दही, खट्टे फल केले, तरबूज, संतरे, पपीता इन सब चीजों से सर्दी बढ़ने का खतरा रहता है, जो की आगे चलकर कान की और अधिक समस्या उत्पन्न हो सकती है और इन सब चीजों के सेवन से कफ का दोष बढ़ जाता है।
  • कान के रोगियों को ठंडी चीजे खाने से बचने चाहिए लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए क्युकी कान हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग है।
  • कान की समस्याओ में लहसुन, अदरक, प्याज के इस्तेमाल से काफी आराम मिलता है।
  • कान रोग में हल्दी मसाले के प्रयोग में अवश्य लेना चाहिए इससे कान रोगियों को काफी फायदा मिलता है।
  • सरसो का तेल कान में डालने से कान के फोड़े फुंसी ठीक हो जाते है।
  • कान के दर्द होने पर प्याज का रस हल्का गर्म करके डालने पर दर्द में काफी आराम मिलता है।
  • कान में गौ मूत्र डालने से भी फोड़े फुंसी ठीक हो जाते है।
  • नीम के तेल में शहद मिलाकर रुई के फोहे से कान के अंदर जख्म पर लगाने से पस निकलना या कान का बहना बंद हो जाता है।
  • इस रोग में तुलसी के पत्तो का रस निकालकर डालने से कान के दर्द और संक्रमण से काफी आराम मिलता है ये पौधा बहुत ही लाभदायक है।

और भी पढ़े

क्षय रोग
दांतो के दर्द दूर करने के उपाय

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Add Comment

Leave a Comment