Herbs

गाजर खाने के फायदे – carrot health benefits

गाजर खाने के फायदे - carrot health benefits
गाजर खाने के फायदे - carrot health benefits
loading...

गाजर प्रायः अनेक विटामिन मिलते हैं। लेकिन उसके रस में विटामिन । सबसे अधिक मात्रा में होता है। गाजर अनेक रंग की होता है। किंतु काली carrot सर्वश्रेष्ठ है। गाजर के रस का उपयोग विषेशकर लाभकारी है। वात्तकारक होने के होने के कारण उसमें यथारूचि भुना जीरा, नमक व मीठा डालकर लेना उचित रहता है।  पढ़िए:  गाजर खाने के फायदे।

गाजर खाने के लाभ: गाजर खाने के फायदे

गाजर खाने के लाभ फायदे - carrot health benefits

गाजर खाने के फायदे – किसी भी रूप में गाजर का नियमित सेवन करना, अनेक रोगो में विशेष लाभदायक है। इसमें संतुलित भोजन के प्रायः सभी तत्व पाये जाते हैं। मानसिक, शारीरिक, स्नायुविक शक्ति पैदा होती है।

मानसिक :

लगभग 250 मिलीलीटर, carrot का रस प्रतिदिन पीने से, मानसिक तनाव दूर होता है। आफिसों में काम करने वाले स्त्री-पुरुषों, परीक्षा, की तैयारी करने वाले छात्रों और दूसरे मानसिक कार्य करने वालों को गाजर का रस पीना लाभकारी होता है।

शारीरिक : 

गाजर खाने और उसका रस पीने से शारीरिक शक्ति और रोग निरोधक क्षमता विकसित होती है। carrot में इतने अधिक गुणकारी खनिज तत्त्व और विटामिन होते हैं। जो शरीर में रक्त की तेजी से वृद्धि करते हैं। रक्त के पर्याप्त मात्रा में होने से सौंदर्य-आकर्षण विकसित होता है।जो नेत्रों को विभिन्न रोगों से सुरक्षित रखकर नेत्रों को सुंदर बनाए रखता है।

स्तन सौंदर्य और सुडौलता

carrot में लौह तत्त्व (आयरन) 1.5 मिली ग्राम होता है। जो शरीर में रक्त की वृद्धि करके सुंदरता को बढ़ाता है। carrot में पाए जाने वाले विटामिन ‘E’ से स्त्री-पुरुषों में प्रौढ़ावस्था तक सौंदर्य सुरक्षित रहता है। carrot में उपलब्ध विटामिन ‘E’ स्तनों को कैंसर से सुरक्षित रखकर स्तन सौंदर्य और सुडौलता को अधिक आयु तक बनाए रखता है। भोजन में विटामिन ‘E’ के अभाव से अल्पायु में बाल सफेद होने लगते हैं।

श्वेत प्रदर रोग (ल्यूकोरिया)

carrot का रस प्रतिदिन सेवन करने से स्त्रियों का श्वेत प्रदर रोग (ल्यूकोरिया) नष्ट होता है। श्वेत प्रदर स्त्रियों के स्वास्थ्य को नष्ट करके उनके सौंदर्य आकर्षण को भी नष्ट कर देता है। गाजर का रस पीने से श्वेत प्रदर नष्ट होने के कारण सौंदर्य सुरक्षित रहता है।

रक्त की कमी

हर व्यक्ति के लिए इसका सेवन शक्तिवर्धक है। इसके सेवन से नींद, थकान दूर होती है और शरीर में रक्त-संचार की बाधा का निराकरण होता है। रक्त की बाधा की कमी दूर होकर वनज बढ जाता है। इसका है। अनेक तरह से प्रयोग किया जा सकता है। कच्ची गाजर, उसका सूप, रस, हलवा, सब्जी, आचार के रूप में प्रयोग, अनेक प्रकार से रोगों में लाभकारी है।

इसका लाभ

जैसकि हम जानते है। कि यकृत, (लीवर), प्लीहा (स्पीलीन), कृमि, उदर रोग, नेत्र-विकार, शिर शूल, मधुमेह आदि रोगों में carrot का प्रयोग करने से लाभ मिलता है।

मधुमेह:

एक प्याला कैरट का रस, आधा प्याला पालक का रस यथा रूचि भुना जीरा, नमक डालकर दिन में दो बार नियमित लें।

कृमि:

आधा प्याला कैरट का रस बिना आहार के प्रातःकाल दो सप्ताह नियमित सेवन करें।

प्लीहा:

अचार के रूप में सेवन करने से कम हो जाती है।

स्मरण-शक्ति:

आधा प्याला गाजर का रस, एक प्याला दूध नियमित गरम कर पियें।

नेत्र-ज्योति बढाने के लिए:

आधा प्याला गाजर का रस, आधा प्याला पालक का रस नियमित सेवन करें।

Read More:


आप हमसे  Facebook, +google, Instagram, twitter, Pinterest और पर भी जुड़ सकते है। ताकि, आपको नयी पोस्ट की जानकारी आसानी से मिल सके। हमारे Youtube channel को Subscribe जरूर करे।

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Leave a Comment