घरेलु उपचार

मोच का घरेलू उपचार: चोट, सूजन मांसपेशियों के खिचाव आ जाना

सूजन मोच का घरेलू उपचार,Sprain
मोच का घरेलू उपचार
loading...

चोट, सूजन और मोच का घरेलू उपचार sprained ankle treatment : मोच (Sprain) अचानक कई बार हमारी मांसपेशियों के खिचाव के कारण होता है। हम काम करते हुए या सीढ़ियों पर चढ़ते हुए पैर का मुड़ जाना या अचानक ही पैर का ऊपर नीचे पड़ने पर हमारी मांसपेशियों में खिचाव (Muscle stretch) आ जाना ज्यादातर खेलते समय पैरों में मोच अक्सर आ जाता है मोच के साथ साथ फ्रैक्चर भी हो जाता है और सूजन आने के साथ दर्द भी काफी होता है इसे ही मोच कहते है।

  • टखने में मोच का घरेलु उपचार – sprained ankle treatment
  • मोच खाए टखने के लक्षण – Symptoms of ankle Sprained
  • पैरों में मोच या खिंचाव आने पर इलाज – Treatment on sprain of feet

मोच के घरेलु उपचार

  1. मांसपेशियों में खिंचाव का उपाय है बर्फ – Moch ka desi upay hai Ice in Hindi
  2. मोच को ठीक करे इलास्टिक बैंडेज से – Moch ko thik kare elastic bandage se in Hindi
  3. मोच ठीक करने का उपाय है सेंधा नमक – Moch thik karne ka tarika hai sendha namak in Hindi
  4. मांसपेशी में खिचाव को दूर करे सेब के सिरके से – Maspeshiyo me khichao se chutkara dilta hai apple vinegar in Hindi
  5. टखने में मोच का घरेलू उपाय है अरंडी का तेल है – Takhne ki moch ka gharelu nuskha hai castor oil in Hindi
  6. टखने की मोच को ठीक करने का तरीका है जैतून का तेल – Takhne ki moch ka thik karne ka upay hai olive oil in Hindi
  7. मोच ठीक करने का घरेलू उपाय है शीरा – Moch thik karne ka gharelu upay hai shira in Hindi
  8. मोच ठीक करने के घरेलू नुस्खे में करे लौंग के तेल का प्रयोग – Moch thik karne ka gharelu nuskhe hai clove oil in Hindi
  9. टखने की मोच से छुटकारा दिलाता है प्याज – Moch se chutkara pane ka tarika hai onion in Hindi
  10. मोच को ठीक करने का घरेलू उपाय है वार्म कम्प्रेस – Moch ko thik karne ka gharelu nuskha hai warm compress in Hindi

Sprained Ankle Treatment in hindi

  • किसी के पैरों में अगर मोच आ जाये तो तुरंत उस जगह पर हल्दी और प्याज को पीसकर हल्का गर्म करके मोच वाली जगह पर रखकर बांधने से सूजन और दर्द में काफी आराम मिलता है।
  • हल्दी और प्याज बांधने पर मोच की वजह जो खून जम जाता है उस खून को हल्का करके गतिशील कर देता है इस वजह से दर्द और सूजन में भी रहत मिलती है।
  • मोच में योग और व्यायाम नियमित रूप से करने पर काफी फायदेमंद है।
  • मोच में मसाज या मालिश नहीं करनी चाहिए ये सूजन और दर्द को बढ़ा सकती है।
  • यदि व्यक्ति को मोच आ गयी है तो उसको ज्यादा से ज्यादा आराम करने की जरुरत होती है चलना-फिरना कम करना होता है।
  • जितना कम हो सके उतना कम चले और मोच वाली जगह पर दबाव न दे या ताकत न लगाए इससे काफी आराम मिलता है।
  • विटामिन-सी शरीर की सूजन घटाने में सहायक होती है।
  • पत्ता गोभी, शिमला मिर्च, संतरे, निम्बू, चिकन, मछली विटामिन-सी प्रदान करते है।
  • ओमेगा-3 फैटी एसिड ये भी सूजन कम करने में सहायक होते है इसमें अखरोट, अलसी के बीज, मछली, पत्ता गोभी आते है।
  • विटामिन डी हड्डियों की मजबूती एवं पुनर्निर्माण में सहायता प्रदान करती है इसमें अंडा, दूध, मछली विटामिन डी की कमी पूरा करती है।

 हल्दी चूने (लाइमस्टोन) का गर्म लेप

 हल्दी चूने (लाइमस्टोन) का गर्म लेप- प्रभावित जगह पर हल्दी और चूने को गर्म करके लगाने से दर्द में तुरंत राहत मिल जाएगी और इस मिश्रण से ब्लड क्लॉटिंग (रक्त का थक्का बनने) का खतरा भी समाप्त हो जायेगा। इतना ही नही यह मिश्रण किसी भी प्रकार की आंतरिक चोट (जिसमें रक्तस्त्राव नही होता), में भी फायदेमंद होता है।

सूजन में हल्दी का लेप, मोच का घरेलू उपचार – Turmeric coating in pain and swelling of sprain

 हल्दी का लेप यदि आपको मोच के साथ-साथ पैर में घिसावट यार घाव हो गया हो तो केवल हल्दी को गर्म करके इसका मोटा लेप लगाएं। हल्दी एक प्राकृतिक एंटी सेप्टिक है, अतः यह आपके घाव जल्दी ठीक करने में मदद करेगी और दर्द एवं सूजन भी में भी राहत मिलेगी। मोच का घरेलू उपचार

चूने और शहद का लेप – Lime and honey paste

चूने और शहद का लेप- मोच या चोट के तुरंत बाद यदि आपको शहद और चूना मिल जाये तो इसका उपयोग करने से प्रभावित स्थान के क्षतिग्रस्त उत्तकों को तुरंत फायदा मिलता है और गाँठ या उस स्थान को कठोर होने से बचाता है। इसका उपयोग बहुत आसान भी है। किसी बर्तन में इतनी मात्रा में शहद और उसका लगभग आधा चूना लें कि वह पूरे प्रभावित स्थान पर फैलाया जा सके, और इसका मोटा सा लेप लगा लें। जैसे ही आप चूने को शहद में अच्छे से मिलाएंगे यह मिश्रण गर्म हो जायेगा और इसे तुरंत लगा दें। 15-20 मिनट में आपको दर्द से राहत मिल जाएगी। बाद में दो तीन दिन इसका उपयोग करने से मोच ठीक हो जाएगी।

नमक और सरसों के तेल का लेप – Coating of salt and mustard oil

नमक और सरसों के तेल का लेप- मोच या पैर में खिंचाव आने पर सरसों के तेल में बारीक़ पिसा हुआ सेंधा नमक या सामान्य नमक लेकर हल्के हाथ से मालिश करके गर्म कपड़े से सेंक कर कपड़ा बाँध कर सो जाएं। ऐसा दो-तीन दिन करने से मोच ठीक हो जाएगी।

पान, अरण्ड (casterd), धतूरा, रूसा या मदार के पत्ते

पान, अरण्ड (casterd), धतूरा, रूसा या मदार के पत्ते- इनमें से किसी भी पौधे के पत्ते लेलें उनमें सरसों का तेल लगाकर गर्म करें और मोच या चोट वाले स्थान पर बाँध दें, बहुत ही जल्दी आराम मिल जायेगा। ऐसा दो से तीन दिन करें।

मोच के दर्द और सूजन में तुलसी-पत्र का रस और सरसों तेल का लेप

तुलसी-पत्र का रस और सरसों तेल का लेप तुलसी के पत्ते का रस सरसों का तेल को गर्म करके मोच वाले स्थान पर लगाने से आराम मिलता है ऐसा कुछ दिन करने से मोच पूर्णतया ठीक हो जायेगा।

फिटकरी का मोच के दर्द और सूजन में प्रयोग – Use of Alum pain and inflammation in sprain

फिटकरी (Alum) का प्रयोग- फिटकरी को अच्छे से पीसकर आधे चम्मच पाउडर को गर्म दूध में डाल कर पीने से गाँठ बनने का खतरा नही रहता एवं मोच या चोट जल्दी ठीक हो जाती है।

Sprain home remedies in hindi मोच का घरेलू उपचार – यदि किसी व्यक्ति को मोच (Moch) आ गई है तो उसको ठंडी चीजे खाने या पीने से बचना चाहिए अगर वह ठंडी चीजे लेता है तो उसको मोच में आराम मिलने की गति धीमी पड़ जाती है इसलिए ठंडी चीजों का उपयोग नहीं करना चाहिए।

मोच का घरेलू उपचार : मोच आ जाने गरम पट्टी बांधने से मोच के दर्द और सूजन में आराम मिलता है।

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Leave a Comment