घरेलु उपचार

दादी मां के घरेलू नुस्खे

दादी मां के घरेलू नुस्खे
loading...

दादी मां के घरेलू नुस्खे

तरबूज शीतल, बलकारक व तृप्तिकारक होता हैं। इसका रस पीने से षरीर को ठंडक मिलती हैं। तरबूज में विटामिन ए, बी, सी और आरयन प्रचुर मात्रा में होता हैं। यह रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढाता हैं। डाॅक्टरो के अनुसार गर्मी के तेज धूप में राहत देने वाले तरबूज के रस से श्रेष्ट और कुछ नहीं। इसका रस पेट सम्बन्धी विकाारो में आरामदायक हैं, व पेट की जलन को शांत करता हैं। क्योंकि इसमें पानी व फाइवर की अच्छी मात्रा होती हैं, रक्त से लेकर मूत्र तक को साफ करता हैं।तरबूज के सेवन से शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बना रहता हैं।

आपच के लिए।

यदि आपच की शिकायत हो, तो भोजन के बाद तरबूज का रस पीएं, इससे भोजन शीघ्र ही पच ही जाएगा।

मनसिक तनाव के लिए।

मानसिक तनाव को दूर करने का अद्भभुत गुण हैं, तरबूज में. तरबूज और खरबूजा के बीजो की गिरी सममात्रा में लेकर रात को पानी में भिगो दें और सुबह उसी पानी में पीसकर व उसमें थोडा-सा मख्खन व मिश्री मिलाकर सेवन करने से मानसिक तनाव दूर होता हैं।

सनबर्न के लिए।

सनबर्न के वजह से त्वचा के झुलस जाने पर वहाॅ जलन होती हैं, ऐसी स्थिति में तरबूज का रस फ्रिज में रखकर ठंडा करके रूई के फांहे से झुलसी त्वचा पर लगाएं, आपको आराम मिलेगा।

यूरिन के लिए।

यूरिन में रूकावट या खुलकर यूरिन पास न होने की स्थिति में 250 मि.ली. तरबूज का रस पीना लाभदायक होता हैं, इससे मूत्र त्याग में के समय होने वाली जलन भी दूर होती हैं।

बार-बार प्यास लगने के लिए।

जिन लोगो को गर्मियों में बार-बार प्यास लगती हो, उनके लिए तरबूज के गूदे व रस में काला नमक मिला कर सेवन करना लाभदायक होता हैं।

पीलिया के लिए।

पीलिया की बीमारी में भी तरबूज लाभकारी हैं, इसलिये पीलिया होने पर इसे खाना चाहिये और इसका रस पीना चाहिए।

दिमागी की गर्मी के लिए।

दिमागी गर्मी, हिस्टीरिया, अनिद्रा की परेशानी होने पर तरबूज का गूदा सिर पर कम से कम 40 मिनट तक रखने से फायदा होता हैं।

खट्टी डाकार के लिए।

तरबूज के फांकों पर काली मिर्च पाउडर, सेंधा या काला नमक बुरक कर खाने से खट्टी डाकारें आना बन्द हो जाती हैं।

कब्ज के लिए।

जिन लोगों को अक्सर कब्ज की षिकयत रहती हैं, उन्हें तरबूज का सेवन नियमित रूप से करते रहना चाहिए, क्योंकि तरबूज रेषा प्रधान फल हैं।
इसलिए तरबूज खाने से कब्ज की परेषानी दूर हो जाती है, इसके सेवन से आंतों में फंसा मल भी बाहर निकाल जाता है, यह आंतो को एक प्रकार की चिकनाई प्रदान करती हैं।

हृदय के स्वस्थ के लिए।

यदि आप अपने हृदय को स्वस्थ व मजबूत रखना चाहते है, तो मौसम में हर रोज तरबूज जरूर खाएं, यह आपके षरीर में हानिकारक कोलेस्ट्राॅल नहीं बनाने देता।

मोटापा के लिए।

तरबूज का सेवन मोटापा भी दूर करता है, क्योंकि इसमें अधिकांष भांग पानी का होता है, जिसके सेवन से से पेट भरा-भरा-सा रहता है, व व्यक्ति भोजन कम करता है, जिससे मोटापा कम होता है।

स्कर्वी के लिए।

तरबूज में विटामिन (ब्) प्रचुर मात्रा में होती है, इसलिए यह स्कर्वी बीमारी से बचाव करता है।

पथरी के लिए।

यदि आपको पथरी की समस्या हैं, तो आपको तरबूज का नियमित सेवन करना काफी लाभदायक हैं।

गुर्दे के लिए।

यदि आप गुर्दे के मरीज है, तो आपके लिए तरबूज खाना बहुत फायदेमंद हैं।

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Leave a Comment