Uncategorized

kathal ke fayde कटहल के फायदे

loading...

कटहल Kathal

इसे अन्य भाषाओं में कटहर, पणस, कंटकीफल,वृहत्फल, काँटोल, फणसचह, बला आदि नामो से जाना जाता है। इसका पेड़ सघन होता है। इसके पत्ते बरगद के पत्ते के समान होते है लेकिन उससे छोटी होते है। इसके फल तनो एवं डालियों से निकलते है। और एक फुट से लेकर तीन फुट तक लम्बे एवं मोटे अंडाकार होते है। जिनमे कांटे की भाति छिलका होता है। ये मिटटी के नीचे जड़ में भी फलता है।

kathal-ke-fayde

google source

कटहल के गुण Kathal ke gun

kathal कच्चा फल ग्राही, कसैला, त्रिदोषकारी, बलवर्धक और भारी होता है। इसका पका फल शीतल, तृप्तिकारक, कामोद्दीपक, मांसवर्धक, वात और कुष्ठ रोग दूर करने वाले होते है। kathal के बीज मीठे, कामोद्दीपक और कब्जियत करने वाले होते है। इसके फूल कड़वे लेकिन मुंह को साफ़ करने वाले होते है।

कटहल के फायदे Kathal ke fayde

  • kathal जड़ से पैदा हुआ कटहल बदन को पुष्ट करता है और बल प्रदान करता है।
  • इसके फल खाने से वादी और पित्त में लाभ मिलता है।
  • इसको खाने से मन परसन्नित रहता है और भूख से आराम मिलता है।
  • ये खांसी में आने वाले बलगम को समाप्त करता है और पेट का मैल साफ़ करता है।
  • कटहल के फूल को पानी में पीसकर पीने से हैजे की बीमारी दूर होती है।
  • इस पेड़ के रस ग्रंथियों को सूजन या फोड़ो के ऊपर मवाद पैदा करने के लिए लगाया जाता है।
  • इसकी गांठ को अगर कमर के ऊपर बांधा जाए तो जलबोर्ड को दूर करता है।
  • कटहल में पाया जाने वाला पोटैशियम हार्ट से जुड़ी बीमारियों से सुरक्षित रखता है। उच्च रक्तचाप के मरीजों के लिए ये बहुत ही फायदेमंद है।
  •  ये आयरन का एक अच्छा सोर्स है जिसकी वजह से एनीमिया से बचाव होता है। साथ ही इसके प्रयोग से ब्लड सर्कुलेशन भी नियंत्रित रहता है।
  • इसमें मौजूद सूक्ष्म खनिज और कॉपर थायराइड चयापचय के लिये प्रभावशाली होता है। खासतौर पर यह हार्मोन के उत्पादन और अवशोषण के लिये अच्छा माना जाता है।

और भी पढ़े

अर्जुन Arjuna (Terminalia Arjuna) के गुण लाभ या फायदे

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Leave a Comment