Uncategorized

Laung, Laung ke tel ke fayde लौंग, लौंग के तेल के फायदे

loading...

लौंग Laung को अंग्रेजी में क्लोव Clove कहते है। ये जीवनी शक्ति को बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी है। इसीलिए ये टी बी, बुखार आदि रोगो में एंटीबायोटिक का काम करती है। यही रक्त को शुद्ध करने और कीटाणुनाशक होती है। Laung में मुंह, आंते और आमाशय में रहने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं व सड़न को रोकने के गुण है। ये पाचनतंत्र, श्वेताणुवर्धक स्फूर्ति दायक होती है। पाचनतंत्र को सही कर भूख बढ़ाती है और पेशाब अधिक लाती है। Laung का तेल विभिन्न रोंगो में लाभदायक होता है। इसका तेल सूखे हुए फूल के कली, पत्ती और तने से निकाला जाता है।

laung-ke-fayde

image google source

Laung ke tel लौंग के तेल

इसके तेल में तेज गंध वाला उड़नशील तेल रहता है। इसका तेल सल्फर डाई-ऑक्साइड व बेंज़ोइक अम्ल से अधिक सुरक्षित रहता है। इसके तेल सूक्ष्म जीवो को मारने की शक्ति रखता है। इसलिए एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक दवाओं में Laung का तेल उपयोग किया जाता है। तेल में ऐसे तत्व पाए जाते है। जो रक्त परिसंचरण को स्थिर करते है और शरीर का तापमान ठीक रखते है। लौंग के तेल को त्वचा पर लगाने से उत्तेजक प्रभाव दिखाई देते है। त्वचा गर्मी पैदा करके लाल हो जाती है।

Laung ke fayde लौंग के फायदे

सिरदर्द Sirdard

इसके होने के बहुत से कारण है। लेकिन सर्दी-जुकाम से हो रहे सिरदर्द में नाक बंद हो जाना, पानी का स्त्राव रुक जाना, साइनस आदि लक्षण दिखाई देते है। इसे दूर करने के लिए-
-तुलसी के सूखे हुए पंद्रह पत्ते और पांच लौंग ले। दोनों पर थोड़ा सा घी लगाकर आग पर डाल दे और निकलते हुए धुए को सूंघे। इससे रुका हुआ पानी स्त्राव आरम्भ हो जाता है एयर सिरदर्द ठीक हो जाता है।
-लौंग और नमक को साथ में पीसकर ललाट पर लगाने से सिरदर्द में आराम मिलता है।
-दो कप पानी में तीन लौंग को पीसकर उबाले। एक कप पानी के रहने पर गुनगुना पिए। इससे सर्दी-जुकाम में बहुत आराम मिलता है।

मूत्रविकार Mutrvikar

किसी भी प्रकार का मूत्रविकार हो दूर हो जाता है। पेशाब में जलन या पेशाब का अधिक आने की समस्या को Laung दूर करता है।
-पांच लौंग को पीसकर एक गिलास पानी के साथ प्रतिदिन सुबह शाम फंकी ले। इससे मूत्राशय से मूत्रद्वार तक के मार्ग को साफ़ करता है। पेशाब की समस्या को दूर करता है।

दांत के दर्द Dant ke dard

गलत खान-पान के कारण या दांत के साफ-सफाई न करने से दांत में कीड़े लगने लगते है। जिससे सड़न पैदा हो जाती है। दांत में दर्द, मसूढ़ों में सूजन, गर्म ठंडा लगना आदि लक्षण दिखाई देने लगते है। इससे छुटकारा पाने के लिए-
-दो Laung दांतो के बीच में दबाकर रखने या पांच लौंग को पीसकर उसमे निम्बू का रस निचोड़कर दांतो पर मलने से दांत के दर्द दूर हो जाते है।
-Laung के तेल को रुई के फोहे में लगाकर दांत के दर्द वाले स्थान पर लगाकर रखने दर्द गायब हो जाते है।

खांस Khansi

बदलते मौसम के कारण सर्दी, जुकाम और खांसी आम समस्या बन गई है। इससे नाक का बंद होना, खांसी से सीने में दर्द होना, नाक से पानी बहना आदि। लक्षण दिखाई देने लगते है।
-एक कप पानी में चार लौंग को उबालकर बच्चे को दिन में तीन बार पिलाये। व्यस्क एक पानी में आठ Laung उबालकर दिन में तीन बार पिए इससे खांसी में बहुत लाभ मिलता है।

मुहांसे Muhanse

खान-पान सही न हो पाने से या किसी कारणवश चेहरे पर मुहांसे निकल जाते है। जिससे चेहरे की सुंदरता कम हो जाती है। इससे छुटकारा पाने के लिए-
-चार बूँद Laung का तेल लेकर सरसो या नारियल के तेल पचास ग्राम में मिला ले। इसको चेहरे पर लगाने से मुहांसे ख़त्म हो जाएगी।

भूख न लगना Bhookh na lagna

व्यक्ति तनाव, चिंता, बीमारी आदि कारणों से भूख नहीं लगती है। जिससे व्यक्ति को धीरे-धीरे कमजोरी होने लगती है। और व्यक्ति को अन्य बीमारियां घेर लेती है।
-लौंग के फूल को खाना खाने से पहले मुंह में रखे। और थोड़ी देर बाद कूचकर खा जाये। इससे भूख में बढ़ोत्तरी होती है।

जुकाम और बुखार Jukam aur Bukhar

व्यक्ति को बदलते मौसम में जुकाम, बुखार होता रहता है। खासकर सर्दियों के मौसम ये समस्या ज्यादा होती है।
-बीस तुलसी के पत्ते, पांच Laung और दो कप पानी में थोड़ा सा नमक लेकर उबाले। जब आधा पानी रह जाये तो इसे उतार कर ठंडा कर ले। इसे दिन में तीन बार लेने जुकाम और बुखार में लाभ मिलता है।
-इसके तेल को दो-दो बूँद की मात्रा में रुमाल पर डालकर सूंघे। इससे बंद नाक खुल जाता है और जुकाम में लाभ मिलता है। इससे पीनस रोग ठीक हो जाता है।

पीलिया Piliya

-पीलिया हो जाने पर आठ Laung को पीसकर एक गिलास पानी में रात को सोते समय भिगो दे। सुबह खाली पेट प्रतिदिन इसका पानी लेने से पीलिया ठीक हो जाता है।

गले में दर्द होना Gale me dard hona

अधिक समय तक जुकाम और खांसी होने पर गले में दर्द हो जाता है। इससे छुटकारा पाने की लिए-
-दो Laung को लोहे की तवे पर सेक ले। इसे दिन में तीन पर प्रतिदिन चूसे। इससे गले की दर्द में आराम होता है।

और भी पढ़े

Lahsun ke gunn aur fayde | लहसुन के गुण और फायदे
Jeera ke gunn aur fayde | जीरा के गुण और फायदे

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Add Comment

Leave a Comment