Uncategorized

सरसो के ऐसे फायदे जो आप नहीं जानते..

loading...

राई या सरसो जाति का तिलहनी पौधा है। इसलिए राई और सरसो को अंग्रेजी में मस्टर्ड mustard के नाम से जाना जाता है। राई को साफ़ करने के लिए, राई को हल्के पानी में डालकर हिलाये। इसको पानी से छानकर निकाल दे और राई को फैलाकर सुखा ले। इसे दरदरी जैसा पीस ले। इससे इसके छिलके अलग हो जायेंगे। छिलको को हवा में उड़ा दे या इसे पानी में भिगोकर छान ले। अब ये राई साफ है और इसे काम में लेने के लिए सही होता है।

sarso-ke-fayde-aur-nuksan

image source google

Sarso ke fayde सरसो के फायदे

सरसों के बीज (mustard Seeds) के कई सारे औषधीय गुण होते हैं जो हमारे हेल्थ को बहुत बेनिफिट्स देते हैं। इनका उपयोग आयुर्वेद में कई दवा बनाने में किया जाता है। आइये जानते है इसके फायदे क्या है:-

फोड़े, फुंसी और दाद में फायदेमंद सरसो

चर्म रोंगो के हो जाने पर सबसे पहले राई को पानी के साथ पीस ले। पेस्ट बन जाने पर इसे रोग हुए जगह पर लगाए। इससे दाद, खाज और खुजली में आराम देकर चर्म रोंगो में बहुत फायदा होता है।

खांसी, कफ में लाभदायक सरसो

1/4 चम्मच sarso, दो ग्राम सेंधा नमक और इसी मात्रा में मिश्री मिलाकर प्रतिदिन दो बार फंकी ले। खांसी और छाती में जमा कफ पतला होकर निकल जाता है। इससे आने वाली खांसी में बहुत आराम मिलता है।

मल त्याग करने में सहायक सरसो

सरसों के बीज(sarson ke seeds) में तंतु होते हैं। आपको सरसों के बीज के साथ बनी हुई सब्जियां और मछलियाँ खाने से अद्भुत मल त्याग मिलेगा। सरसों के फायदे, अगर आपको कब्ज की समस्या है और वह समय पर ठीक नहीं होगी तो आगे चलकर यह गंभीर समस्या बन सकती है। लेकिन सरसों के बीज की मदद सेमल त्याग प्रभावी तरीके से हो जाएगा।

दमा को दूर करता है सरसो (Asthma)

अगर आप दमा से पीड़ित हैं तो सरसों के बीज एक अच्छा उपाय है। सरसों में मैग्नीशियम और तांबे के रूप में खनिज शामिल हैं जो दमा के हमले से इलाज पाने के लिए काफी लाभकारी है।

संक्रमण (Infection) को रोकने में मदद करता है सरसो

आपकी त्वचा में मुक्त कणों के प्रवेश से आप संक्रमण के विभिन्न प्रकारों से पीड़ित हो सकते हैं। लेकिन सरसों के बीज की वजह से संक्रमण के सभी प्रकार से लड़ने में मदद मिलती है। आपको अपने संक्रमण के इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं है। दरअसल यह सरसों के बीज के माध्यम से संभव हो जाएगा।

बढ़ती उम्र के असर को कम करता है सरसो

हर व्यक्ति जीवन में कभी न कभी बुढा होता है। लेकिन उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से उसे बहुत निराशा होती है। 10 साल पहले खिंची अपनी तस्वीर देखकर वह उदास हो सकता है। सरसों के बीज की मदद से आप आसानी से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं।

बालो के लिए फायदेमंद सरसो

अपने बालों की अनुचित देखभाल, प्रोटीन की कमी और प्रदूषण से बालों का बढ़ना प्रतिबंधित हो गया है। आप फिर से अपने बालों का विकास शुरू करना चाहते हैं तो सरसों के बीज प्रभावी तरीकों में से एक हो जाएगा।

आपके बाल भले ही लंबे हों पर बालों की ताकत आपके बालों के विकास से जुडी होनी चाहिए। बालों का अचानक टूटना आज महिलाओं के लिए काफी आम हो गया है। अपने बालों को मजबूत बनाने के लिए सरसों के बीज से मदद लेने की जरूरत है। आप निश्चित रूप से उपचार प्रक्रिया में सरसों के बीज उपयोग करने के बाद बालों का गिरना कम हुआ देखेंगे।

स्वास्थ में लाभदायक सरसो

सरसों के बीज में कई प्रकार के स्वास्थ्य गुण होते हैं। यह विटामिन और खनिज पदार्थों का काफी अच्छा स्त्रोत होता है। हर व्यक्ति को पर्याप्त मात्रा में विटामिन और अन्य पोषक पदार्थों की आवश्यकता होती है। अपने भोजन में इसको शामिल करने के बाद आप अपने शरीर से ऑक्सीडेंटस (oxidants) को भी दूर कर सकते हैं। याह डाइटरी फाइबर (dietary fiber) से भी भरपूर होता है जो हमारे शरीर के लिए काफी ज़रूरी होते हैं। सरसों के बीज काफी मात्रा में खनिज पदार्थों और विटामिन्स से भरे रहते हैं।

गठिया रोग या जोड़ो के दर्द में आराम देता है सरसो

सरसों के बीज में मैग्नीशियम और सेलेनियम (magnesium and selenium) दोनों होते हैं। इसमें ताप पैदा करने वाले और जलनरोधी गुण दोनों मौजूद होते हैं। सरसों के बीज और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को अपने जोड़ों तथा मांसपेशियों के उस भाग पर लगाएं जहां पर आपको दर्द हो रहा है। ये पदार्थ काफी ताप पैदा करते हैं, जिसके फलस्वरूप आपके शरीर की सूजन काफी कम होती है। इससे मांसपेशियों का घनत्व बढ़ जाता है और इससे दर्द होता है। पर सरसों के बीज का नुस्खा मांसपेशियों की अकडन को नर्म करने में काफी काम आता है।

कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करे

सरसों के बीज में नियासिन और विटामिन बी 3 प्रचुर मात्रा में पायी जाती है जो कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने के लिए जनि जाती हैं। साथ ही अथेरोक्लेरोसिस से बचाता है जिससे रक्त प्रवाह ठीक रहता है, और शरीर को उच्च रक्तचाप नहीं होता।

वजन कम करने में मददगार

सरसों के बीज में विटामिन बी काम्प्लेक्स जैसे फोलेट, नियासीन, थियामिन होते हैं जिनमे मोटापा और वजन को कण्ट्रोल करने की शक्ति होती है। सरसों का तेल में मेटाबॉयलिज़्म होता है जो वजन घटने में सहायक होता है।

खूबसूरत बनाये

सरसों में विटामिन A, C, K के अलावा कैरोटीन, जीक्सान्थींस भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हमारे चेहरे से दाग-धब्बे और झुर्रियों को दूर करने में मदद करते हैं। इनसे त्वचा खूबसूरत और चिकनी बनती है।

और भी पढ़े……

हरी मिर्च के महत्वपूर्ण फायदे
सौंफ के फायदे और नुकसान
धनिया के फायदे और नुकसान
हल्दी के फायदे और नुकसान
सोयाबीन के फायदे

 

Sending
User Review
0 (0 votes)
loading...

Add Comment

Leave a Comment